नंदेड़  

हज़ुर साहिब, नंदेड़

नंदेड़ अथवा 'नंदगिरि' अथवा 'नंदीतट' महाराष्ट्र में गोदावरी नदी के तट पर स्थित प्राचीन नगर है। पुराणों के अनुसार नंदेड़ को प्रमुख तीर्थ स्थानों में माना गया है। प्राचीन काल में इस नगर का सम्बन्ध चालुक्य और काकतीय राजवंशों से रहा था। बहमनी सुल्तानों के शासन काल में नंदेड़ एक प्रमुख व्यापारिक केन्द्र बन चुका था, क्योंकि यह उत्तरी और दक्षिणी भारत के बीच नदियों द्वारा होने वाले व्यापार के मार्ग पर स्थित था। नंदेड़ की सर्वाधिक प्रसिद्धि इस कारण है कि यहाँ सिक्खों के दसवें गुरु गुरु गोविन्द सिंह की समाधि है।

इतिहास

पुराणों में वर्णित नंदीतट या नंदेड़ की गणना भारत के पवित्र धार्मिक स्थानों में की जाती है। मेकएलिफ़ की 'सिक्ख रिलीजन' के अनुसार इस स्थान का प्राचीन नाम 'नवनंद' था, क्योंकि इस स्थान पर नौ ऋषियों ने तप किया था। इस नाम का संबंध मगध के नवनंदों से भी बताया जाता है। कुछ विद्वानों का मत है कि 'पेरिप्लस ऑफ़ दि एराईथ्रियन सी' नामक ग्रंथ के लेखक ने दक्षिण भारत के जिस व्यापारिक नगर 'तगारा' का वर्णन किया है, वह नंदेड़ के निकट ही स्थित होगा। चौथी शती ई. में नंदेड़ नगर काफ़ी महत्त्वपूर्ण था और यहाँ एक छोटे से राज्य की राजधानी भी थी, किन्तु अब यहाँ अति प्राचीन भवनों आदि के अवशेष नहीं मिलते।

कथा

एक ऐतिहासिक कथा के अनुसार चालुक्य वंश के राजा आनंद ने अपनी राजधानी कल्याणी से नंदेड़ ले आने का विचार किया था और नंदेड़ में पत्थर के बांध बनवाकर एक तड़ाग का निर्माण भी करवाया था। उसी ने रत्नागिरि पहाड़ी पर नंदगिरि या नंदेड़ नगरी को बसाया था। चौथी शती ई. में वारंगल के चालुक्य नरेशों की एक शाखा नंदेड़ में राज्य करती थी। वारंगल के ककातीय राजवंश के इतिहास 'प्रताप रुद्रभुषण' में वर्णन है कि ककातीय नरेंश नंद का नंदेड़ पर राज्य था। नंददेव के पौत्र माधववर्मन के शासन काल में शिव तथा नंदी की पूजा को बहुत प्रोत्साहन मिला और इस समय के अनेक मंदिर नंदेड़ की प्राचीन कला और संस्कृति के उत्कृष्ट उदाहरण हैं।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

ऐतिहासिक स्थानावली |लेखक: विजयेन्द्र कुमार माथुर |प्रकाशक: राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी, जयपुर |पृष्ठ संख्या: 473 |


संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=नंदेड़&oldid=507832" से लिया गया