देहरादून  

देहरादून
Dehradun-Map.jpg
विवरण देवभूमि उत्तराखंड की राजधानी देहरादून भारत का प्रसिद्ध पर्वतीय पर्यटक स्थल है। देहरादून पूर्व में गंगा से लेकर पश्चिम में यमुना नदी तक फैला हुआ है।
राज्य उत्तराखण्ड
ज़िला देहरादून ज़िला
स्थापना 1699
मार्ग स्थिति देहरादून चंडीगढ़ से 204 किलोमीटर दक्षिण पूर्व, शिमला से 234 किलोमीटर दक्षिण पूर्व, दिल्ली से 288 किलोमीटर दूर स्थित है।
प्रसिद्धि देहरादून शिक्षण संस्थान, मंदिर, झरनें, संग्रहालय के लिए विख्यात है।
कैसे पहुँचें बस, रेल, टैक्सी, हवाई जहाज़
हवाई अड्डा जौली ग्रान्ट हवाई अड्डा, देहरादून
रेलवे स्टेशन देहरादून रेलवे स्टेशन
बस अड्डा बस अड्डा, देहरादून
क्या देखें शिक्षण संस्थान, मंदिर, झरनें, संग्रहालय
क्या ख़रीदें ख़रीददारी के लिए पल्टन बाज़ार विशेष तौर पर प्रसिद्ध है। मौसम की ताजी शक्कर, नए आकार प्रकार के बर्तन और गिफ्ट देने का सामान, आम और रसीली लीची ख़रीद सकते हैं।
एस.टी.डी. कोड 0135
ए.टी.एम लगभग सभी
सावधानी बरसात में भूस्खलन
Map-icon.gif गूगल मानचित्र, जौली ग्रान्ट हवाई अड्डा
देहरादून देहरादून पर्यटन देहरादून ज़िला

देहरादून उत्तरी भारत के पश्चिमोत्तर उत्तराखंड राज्य में स्थित है। देहरादून 670 मीटर की ऊँचाई पर हिमालय की तराई में स्थित है। भौगोलिक रूप से देहरादून शिवालिक की पहाड़ियों और मध्य हिमालय की पहाड़ियों के बीच में स्थित है। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून भारत का प्रसिद्ध पर्वतीय पर्यटक स्थल है। देहरादून पूर्व में गंगा से लेकर पश्चिम में यमुना नदी तक फैला हुआ है। इस तरह की विस्तृत घाटियों को ही "दून" कहते हैं। हिमालय की तराई और शिवालिक पर्वत शृंखला के बीच की घाटी को दून कहते हैं। इस घाटी में सौंग व आसन जैसी कई नदियाँ हैं। देहरादून शब्द की उत्पत्ति दो शब्दों को मिलाकर हुई है-

मिन्ड्रोलिंग स्तूप, देहरादून
Mindroling Stupa, Dehradun
  • देहरा शब्द का अर्थ निवास स्थान या डेरा है।
  • दून का अर्थ द्रोण या पर्वत घाटी है।

देहरादून शहर के उत्तर में पर्वतीय नगर मसूरी एक लोकप्रिय ग्रीष्मकालीन पर्यटक केन्द्र है और ऋषिकेश एक महत्त्वपूर्ण तीर्थ स्थल है।

स्थापना

देहरादून की स्थापना 1699 में हुई थी। कहते हैं कि सिक्खों के गुरु रामराय किरतपुर पंजाब से आकर यहाँ बस गए थे। मुग़ल सम्राट औरंगज़ेब ने उन्हें कुछ ग्राम टिहरी नरेश से दान में दिलवा दिए थे। यहाँ उन्होंने 1699 ई. में मुग़ल मक़बरों से मिलता-जुलता मन्दिर भी बनवाया जो आज तक प्रसिद्ध है। शायद गुरु का डेरा इस घाटी में होने के कारण ही इस स्थान का नाम देहरादून पड़ गया होगा।

  • इसके अतिरिक्त एक अत्यन्त प्राचीन किंवदन्ती के अनुसार देहरादून का नाम पहले द्रोणनगर था और यह कहा जाता था कि पाण्डव-कौरवों के गुरु द्रोणाचार्य ने इस स्थान पर अपनी तपोभूमि बनाई थी और उन्हीं के नाम पर इस नगर का नामकरण हुआ था।
  • एक अन्य किंवदन्ती के अनुसार जिस द्रोणपर्त की औषधियाँ हनुमान जी लक्ष्मण के शक्ति लगने पर लंका ले गए थे, वह देहरादून में स्थित था, किन्तु वाल्मीकि रामायण में इस पर्वत को महोदय कहा गया है।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. History of Dehradun, Uttarakhand, India (अंग्रेज़ी) (एचटीएम) इंडियानेट ज़ोन। अभिगमन तिथि: 7 जुलाई, 2010।
  2. इस पिछली किंवदन्ती में कुछ भी तथ्य नहीं जान पड़ता क्योंकि विराट का राज्य मत्स्य देश में था, जो वर्तमान अलवर-जयपुर का इलाक़ा है।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें
"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=देहरादून&oldid=355151" से लिया गया