दिलेर ख़ाँ  

  • दिलेर ख़ाँ एक प्रमुख मुग़ल अमीर था।
  • इसे सम्राट औरंगज़ेब ने शिवाजी के विरुद्ध राजा जयसिंह के साथ भेजा था।
  • शिवाजी को जून 1665 ई. में पुरन्दर की सन्धि के लिए बाध्य करने का श्रेय जयसिंह के साथ इस अमीर को भी है।
  • पुरन्दर की सन्धि होने के बाद भी 1670 ई. में मराठों और मुग़लों के बीच पुन: युद्ध आरम्भ हो गया।
  • दिलेर ख़ाँ को शहज़ादा शाहआलम का सहायक बनाकर युद्ध के लिए भेजा गया।
  • इस युद्ध में शिवाजी के विरुद्ध दिलेर ख़ाँ को बहुत कम सफलता मिली।
  • पुरन्दर की सन्धि के अनुसार, जो क़िले शिवाजी के हाथ से निकल गए थे, वे पुन: शिवाजी ने छीन लिए और 1674 ई. में शिवाजी ने एक स्वतंत्र नरेश के रूप में अपना राज्याभिषक किया।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=दिलेर_ख़ाँ&oldid=168145" से लिया गया