तुरमली रत्न  

तुरमली ऐसा रत्न है जो अनगिनत रंगों में पाया जाता है। रंगों के अनुसार इसकी निम्र किस्में होती हैं-

  • एक्रोआइट:- यह रंगहीन तुरमली के नाम से जाना जाता है। यह बहुत कम पाया जाता है।
  • रूबेलाइट:- यह गुलाबी (गाजरी) से लाल और कभी-कभार हल्का बैंगनी होता है।
  • ड्रेवाइट:- यह पीला-भूरा से गहरा भूरा होता है।
  • वर्डिलाइट:- यह हरा पत्थर होता है जिसमें हरी छाया दिखाती है। यह तुरमली का प्रमुख रूप है।
  • इनडिहोलाइट:- यह पत्थर नीला होता है।
  • साइबोराइट:- यह बैंगनी अथवा नीले रंग का होता है।
  • स्कोर्ल:- इसका सामान्य रंग काला होता है। यह प्रायः आभूषणों में जड़ा जाता है।

कई पर्तों में अनेक रंग वाले भी रत्न पाए जाते हैं। परन्तु मिले-जुले रंगों का तुरमली बहुत दुर्लभ है। बहुत से मणिभ अनेक रंगों और आभाओं में पाए जाते हैं। यह ब्राज़ील, अंगोला, भारत ,आस्ट्रेलिया, अफ़गानिस्तान, नामीबिया, तंज़ानिया, थाईलैंड में काफ़ी मात्रा में पाया जाता है। ब्राज़ील में ऐसे रत्न मिलते हैं। जिनका अंदरूनी रंग हरा तथा सफ़ेद होता है। कुछ तुरमली की बहारी त्वचा हरी एवं अन्दर से लाल होता है। उन्हें तरबूज़ भी कहा जाता है।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=तुरमली_रत्न&oldid=173523" से लिया गया