तरुण सागर  

तरुण सागर
तरुण सागर
पूरा नाम पवन कुमार जैन (मूल नाम)
अन्य नाम तरुण सागर मुनि
जन्म 26 जून, 1967
जन्म भूमि गुहंची गांव, दमोह, मध्य प्रदेश
मृत्यु 1 सितम्बर, 2018
मृत्यु स्थान नई दिल्ली
अभिभावक पिता- प्रताप चन्द्र जैन, माता- शांतिबाई जैन
कर्म भूमि भारत
प्रसिद्धि जैन अाध्यात्मिक गुरु
नागरिकता भारतीय
दीक्षा 20 जुलाई, 1988 (बागीडोरा, राजस्थान)
दीक्षागुरु आचार्य पुष्पदंत सागर
कीर्तिमान
  • आचार्य भगवंत कुन्दकुन्द के पश्चात गत दो हज़ार वर्षो के इतिहास में मात्र 13 वर्ष की आयु में जैन संन्यास धारण करने वाले प्रथम योगी।
  • राष्ट्र के प्रथम मुनि जिन्होंने दिल्ली के लाल क़िले से देश को सम्बोधित किया।
  • भारत सहित 122 देशों में 'महावीर वाणी' के विश्वव्यापी प्रसारण की ऐतिहासिक शुरुआत करने का श्रेय।
मिशन भगवान महावीर और उनके सन्देश "जियो और जीने दो" का विश्वव्यापी प्रचार।

तरुण सागर मुनि (अंग्रेज़ी: Tarun Sagar Muni, जन्म- 26 जून, 1967, मध्य प्रदेश; मृत्यु- 1 सितम्बर, 2018, नई दिल्ली) जैन धर्म के भारतीय दिगम्बर पंथ के प्रसिद्ध मुनि थे। उनका वास्तविक नाम 'पवन कुमार जैन' था। उन्होंने पूरे देश में भ्रमण किया। बचपन से ही तरुण सागर मुनि का अध्यात्म की और बड़ा झुकाव था। वे अन्य जैन मुनियों से बिलकुल भिन्न थे। उनके प्रवचनों में हमेशा सामाजिक मुद्दों पर चर्चा की जाती थी। उन्हें सुनने के लिए जैन धर्म के लोग तो आते ही थे, लेकिन अन्य धर्म के लोग भी बड़ी संख्या में उनके प्रवचन सुनते थे। तरुण सागर मुनि प्रवचन के माध्यम से रुढ़िवाद, हिंसा और भ्रष्टाचार का काफी विरोध करते थे। इसीलिए उनके प्रवचनों को 'कड़वे प्रवचन’ कहा जाता है।

परिचय

तरुण सागर मुनि का जन्म 26 जून, 1967 को मध्य प्रदेश के दमोह में गुहंची गांव में हुआ था। तब उनका नाम पवन कुमार जैन था। उनके पिता का नाम प्रताप चन्द्र जैन और माता का नाम शांतिबाई जैन था। राजस्थान के बागीडोरा के आचार्य पुष्पदंत सागर ने उन्हें 20 जुलाई, 1988 को दिगंबर मुनि बना दिया। तब वह केवल 20 साल के थे। जीटीवी पर ‘महावीर वाणी’ कार्यक्रम की वजह से वह बहुत प्रसिद्ध हुए।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. जैन मुनि तरुण सागर जी महाराज (हिंदी) gyanipandit.com। अभिगमन तिथि: 01 सितम्बर, 2018।
  2. पवन कुमार जैन से कैसे बने मुनि तरुण सागर (हिन्दी) hindi.oneindia.com। अभिगमन तिथि: 01 सितम्बर, 2018।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=तरुण_सागर&oldid=635106" से लिया गया