ज़ाकिर हुसैन  

(डॉ. ज़ाकिर हुसैन से पुनर्निर्देशित)


Disamb2.jpg ज़ाकिर हुसैन एक बहुविकल्पी शब्द है अन्य अर्थों के लिए देखें:- ज़ाकिर हुसैन (बहुविकल्पी)
ज़ाकिर हुसैन
डॉ. ज़ाकिर हुसैन
पूरा नाम डॉ. ज़ाकिर हुसैन
जन्म 8 फ़रवरी, 1897
जन्म भूमि हैदराबाद, आंध्र प्रदेश
मृत्यु 3 मई, 1969
मृत्यु स्थान दिल्ली
अभिभावक पिता- फ़िदा हुसैन खान
पति/पत्नी शाहजेहन बेगम
नागरिकता भारतीय
प्रसिद्धि भारत के तीसरे राष्ट्रपति
पार्टी कांग्रेस
पद राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, बिहार के राज्यपाल
कार्य काल राष्ट्रपति- 13 मई 1967 से 3 मई 1969 तक, उपराष्ट्रपति- 13 मई 1962 से 12 मई 1967 तक, राज्यपाल- 6 जुलाई 1957 से 11 मई 1962 तक
शिक्षा पी.एच.डी
विद्यालय बर्लिन विश्वविद्यालय
भाषा हिंदी
पुरस्कार-उपाधि भारत रत्न (1963), पद्म विभूषण (1954)
अन्य जानकारी भारतीय प्रेस आयोग, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, यूनेस्को, अन्तर्राष्ट्रीय शिक्षा सेवा तथा केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से भी जुड़े रहे।

डॉ. ज़ाकिर हुसैन (अंग्रेज़ी: Zakir Hussain, जन्म: 8 फ़रवरी, 1897; मृत्यु: 3 मई, 1969) भारत के तीसरे राष्ट्रपति थे। उनका राष्ट्रपति कार्यकाल 13 मई 1967 से 3 मई 1969 तक रहा। डॉ. जाकिर हुसैन मशहूर शिक्षाविद् और आधुनिक भारत के दृष्टा थे। ये बिहार के राज्यपाल (कार्यकाल- 1957 से 1962 तक) और भारत के उपराष्ट्रपति (कार्यकाल- 1962 से 1967 तक) भी रहे। उन्हें वर्ष 1963 मे भारत रत्न से सम्मानित किया गया। 1969 में असमय देहावसान के कारण वे अपना राष्ट्रपति कार्यकाल पूरा नहीं कर सके।

जीवन परिचय

डॉ. ज़ाकिर हुसैन का जन्म 8 फ़रवरी, 1897 ई. में हैदराबाद, आंध्र प्रदेश के धनाढ्य पठान परिवार में हुआ था। कुछ समय बाद इनके पिता उत्तर प्रदेश में रहने आ गये थे। केवल 23 वर्ष की अवस्था में वे 'जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय' की स्थापना दल के सदस्य बने। वे अर्थशास्त्र में पी.एच.डी की डिग्री के लिए जर्मनी के बर्लिन विश्वविद्यालय गए और लौट कर जामिया के उप कुलपति के पद पर भी आसीन हुए। 1920 में उन्होंने 'जामिया मिलिया इस्लामिया' की स्थापना में योगदान दिया तथा इसके उपकुलपति बने। इनके नेतृत्व में जामिया मिलिया इस्लामिया का राष्ट्रवादी कार्यों तथा स्वाधीनता संग्राम की ओर झुकाव रहा। स्वतन्त्रता प्राप्ति के पश्चात् वे अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कुलपति बने तथा उनकी अध्यक्षता में ‘विश्वविद्यालय शिक्षा आयोग’ भी गठित किया गया। इसके अलावा वे भारतीय प्रेस आयोग, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, यूनेस्को, अन्तर्राष्ट्रीय शिक्षा सेवा तथा केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से भी जुड़े रहे। 1962 ई. में वे भारत के उपराष्ट्रपति बने।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. नागोरी, डॉ. एस.एल. “खण्ड 3”, स्वतंत्रता सेनानी कोश (गाँधीयुगीन), 2011 (हिन्दी), भारतडिस्कवरी पुस्तकालय: गीतांजलि प्रकाशन, जयपुर, पृष्ठ सं 168।
  2. “खण्ड 6”, भारत ज्ञानकोश, 2002 (हिन्दी), भारतडिस्कवरी पुस्तकालय: इन्साइक्लोपीडिया ब्रिटैनिका, पृष्ठ सं 243।
  3. स्वयं जूते पॉलिश कर अनुशासन कायम किया जाकिर हुसैन ने (हिंदी) दैनिक भास्कर। अभिगमन तिथि: 2 फ़रवरी, 2013।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=ज़ाकिर_हुसैन&oldid=619384" से लिया गया