टेलीविज़न  

टेलीविज़न
Television

टेलीविज़न (अंग्रेज़ी:Television) एक वैज्ञानिक उपकरण है। टेलीविज़न अथवा टेलीविजन जन-संचार का दृश्य-श्रव्य माध्यम है। ध्वनि के साथ-साथ चित्रों के सजीव प्रसारण के कारण यह अपने कार्यक्रम को रुचिकर बना देता है। जिसका समूह पर प्रभावशाली और प्रत्यक्ष प्रभाव पड़ता है। टेलीविज़न मुख्य रूप से दृष्टि-निर्बन्ध के सिद्धान्त पर आधारित है। जिस वस्तु या व्यक्ति का बिम्ब टेलीविज़न के माध्यम से प्रसारित करना होता है, उस पर बहुत तेज़ प्रकाश डाला जाता है। वस्तु या व्यक्ति की तस्वीर को क्रम में विभक्त कर छोटे-छोटे विभिन्न घनत्वों वाले अवयव में बदल दिये जाते हैं तथा उनकी संगत तरंगों का माडुलन कर एक निश्चित दिशा में प्रेषित द्वारा संचारित किया जाता है। ग्राही द्वारा छोटे-छोटे उसी क्रम में इन अवयवों को जोड़कर मूल तस्वीर प्राप्त कर ली जाती है। जैसा की हमारी आँखों के सामने एक सेकेण्ड में 20-25 क्रमिक परिवर्तन वाले चित्र के गुजरने पर वह गतिमान चित्र के रूप में दिखाई देता है।

इतिहास

टेलीविज़न का आविष्कार 1944 में अमेरिका के वैज्ञानिक जॉन लॉगी बेयर्ड ने किया था। भारत में सर्वप्रथम टेलीविज़न का प्रयोग 15 सितम्बर, 1959 को दिल्ली में दूरदर्शन केन्द्र की स्थापना के साथ हुआ। इसका व्यापक प्रसार 1982 में भारत में आयोजित एशियाड खेलों के आयोजन से हुआ। वर्तमान में दूरदर्शन की पहुँच 86% लोगों तक है जो इसके माध्यम से अपना मनोरंजन करते हैं।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=टेलीविज़न&oldid=616214" से लिया गया