टेरा  

टेरा
टेरा क़िला
विवरण 'टेरा' गुजरात राज्य के कच्छ शहर के पास स्थित है। यहाँ के क़िले में 'कच्छी रामायण' (रामरंध) के विभिन्न प्रकरणों को दर्शाते भित्तिचित्र चित्रित हैं।
राज्य गुजरात
प्रसिद्धि एक महान् सभ्यता के अवशेष यहाँ भित्तिचित्रों में मिलते हैं। भित्तिचित्रों को उन्नीसवीं सदी के मशहूर कच्छी कामगीरी कलम के कलाकारों द्वारा सब्ज़ियों और दूसरे प्राकृतिक रंगों का प्रयोग करके बनाया गया था।
अन्य जानकारी टेरा के पास कच्छ के संस्थापक राव खेगरजी के पिता राव हमीरजी जाडेजा की हत्या कर दी गई थी। गाँव के पास बनाई गई उनकी समाधि अब खण्डहर अवस्था में विद्यमान है।

टेरा गुजरात राज्य के कच्छ शहर के पास स्थित है। यह स्थान अपनी अद्वितीय पारिस्थितिकी और संस्कृति के लिए प्रसिद्ध है। इस प्राचीन क्षेत्र में रामायण की अपनी परम्परा है। यह रामरंध के नाम से जानी जाती है। टेरा के क़िले में कच्छी रामायण (रामरंध) के विभिन्न प्रकरणों को दर्शाते भित्तिचित्र चित्रित हैं।

इतिहास

एक महान् लेकिन मृत परम्परा के यह अवशेष अब कच्छ में टेरा के शासक के 500 साल पुराने क़िले की दीवारों पर भित्तिचित्रों के रूप में मिलते हैं। इन भित्तिचित्रों को उन्नीसवीं सदी के मशहूर कच्छी कामगीरी कलम के कलाकारों द्वारा सब्ज़ियों और दूसरे प्राकृतिक रंगों का प्रयोग करके बनाया गया था। सन् 2001 में आये भूकम्प के बाद रामरंध के ये भित्तिचित्र तेज़ी से फीके पड़ रहें और नष्ट हो रहे हैं। भूकम्प से भित्तिचित्रों से सजे कमरे समेत क़िले को काफ़ी क्षति पहुँची थी।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=टेरा&oldid=598383" से लिया गया