टांडा  

टांडा उत्तर प्रदेश में फ़ैजाबाद जनपद की टांडा तहसील का प्रशासनिक केंद्र एवं प्रसिद्ध औद्योगिक नगर है। यह फ़ैजाबाद नगर से पूर्व घाघरा नदी के दाहिने तट पर उत्तर रेलमार्ग की पुनर्निर्मित अकबरपुर-टांडा शाखा का अंतिम स्टेशन है।[1]

  • मध्य काल में परिवहनीय नदी मार्ग तथा नेपाल एवं सरयू पार क्षेत्र को गंगा की घाटी के नगरों से संबद्ध करने वाले स्थल मार्ग का संगम स्थल होने के कारण यहाँ व्यापार की सुविधा थी।
  • 19वीं सदी में यह नगर मलमल तैयार करने में ढाका (पूर्वी पाकिस्तान) का प्रतिद्वंद्वी हो गया था।
  • कपड़े रँगने के कारखाने खुल जाने तथा सरकारी सहायता मिलने के कारण टांडा का विकास सुनिश्चित हो सका।
  • यहाँ एक स्नातक महाविद्यालय, चिकित्सालय तथा अन्य छोटे सरकारी कार्यालय हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. टांडा (हिन्दी) भारतखोज। अभिगमन तिथि: 19 मार्च, 2015।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=टांडा&oldid=609837" से लिया गया