जहानसोज  

जहानसोज का अर्थ है दुनिया को जला देने वाला। यह पदवी गोर के अलाउद्दीन हुसैन को प्रदान की गयी थी। 1151 ई. में उसने गोर को सर किया और नगर में आग लगा दी। यह आग, सात दिन और सात रात जलती रही। उसने सुल्तान महमूद के मकबरे को छोड़कर सारे शहर को भस्म कर दिया।



टीका टिप्पणी और संदर्भ

  • पुस्तक- भारतीय इतिहास कोश |लेखक- सच्चिदानन्द भट्टाचार्य | पृष्ट संख्या- 166 | प्रकाशन- उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान लखनऊ

संबंधित लेख

"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=जहानसोज&oldid=517399" से लिया गया