घनश्याम दास बिड़ला  

घनश्याम दास बिड़ला
घनश्याम दास बिड़ला
पूरा नाम घनश्याम दास बिड़ला
जन्म 10 अप्रैल, 1894
जन्म भूमि पिलानी, राजस्थान
मृत्यु 11 जून, 1983
मृत्यु स्थान मुंबई, महाराष्ट्र
अभिभावक बी. डी. बिड़ला (पिता)
संतान कृष्णकुमार बिड़ला (पुत्र)
कर्म भूमि भारत
कर्म-क्षेत्र उद्योगपति
मुख्य रचनाएँ 'रुपये की कहानी', 'बापू', 'जमनालाल बजाज', 'पाथ्स टू प्रोपर्टी'[1], 'इन द शेडो ऑफ़ द महात्मा'[2]
पुरस्कार-उपाधि पद्म विभूषण
विशेष योगदान भारत के अग्रणी औद्योगिक समूह बी. के. के. एम. बिड़ला समूह के संस्थापक थे।
नागरिकता भारतीय

घनश्याम दास बिड़ला (अंग्रेज़ी: Ghanshyam Das Birla, जन्म-10 अप्रैल, 1894, पिलानी, राजस्थान; मृत्यु- 11 जून, 1983, मुंबई) भारत के अग्रणी औद्योगिक समूह बी. के. के. एम. बिड़ला समूह के संस्थापक थे, जिसकी परिसंपत्तियाँ 195 अरब रुपये से अधिक है। ये स्वाधीनता सेनानी भी थे। इस समूह का मुख्य व्यवसाय कपड़ा, विस्कट फ़िलामेंट यार्न, सीमेंट, रासायनिक पदार्थ, बिजली, उर्वरक, दूरसंचार, वित्तीय सेवा और एल्युमिनियम क्षेत्र में है, जबकि अग्रणी कंपनियाँ 'ग्रासिम इंडस्ट्रीज' और 'सेंचुरी टेक्सटाइल' हैं। ये गांधीजी के मित्र, सलाहकार, प्रशंसक एवं सहयोगी थे। भारत सरकार ने सन् 1957 में उन्हें पद्म विभूषण की उपाधि से सम्मानित किया।

परिचय

एक स्थानीय गुरु से अंकगणित तथा हिन्दी की आरंभिक शिक्षा प्राप्त करने के बाद अपने पिता बी. डी. बिड़ला की प्रेरणा व सहयोग से घनश्याम दास बिड़ला ने कलकत्ता (वर्तमान कोलकाता) में व्यापार जगत् में प्रवेश किया। 1912 में किशोरावस्था में ही घनश्याम दास बिड़ला ने अपने ससुर एम. सोमानी की मदद से दलाली का व्यवसाय शुरू कर दिया। 1918 में घनश्याम दास बिड़ला ने ‘बिड़ला ब्रदर्स’ की स्थापना की। कुछ ही समय बाद घनश्याम दास बिड़ला ने दिल्ली की एक पुरानी कपड़ा मिल ख़रीद ली, उद्योगपति के रूप में यह घनश्याम दास बिड़ला का पहला अनुभव था। 1919 में घनश्याम दास बिड़ला ने जूट उद्योग में भी क़दम रखा। 1921 में ग्वालियर में कपड़ा मिल की स्थापना की और 1923 से 1924 में उन्होंने केसोराम कॉटन मिल्स ख़रीद ली। ये 1928 ई. में पूंजीपति संगठन ‘भारतीय वाणिज्य उद्योग महामण्डल’ के अध्यक्ष बने।

बिड़ला परिवार का वंश वृक्ष

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. Paths to Prosperity
  2. In the Shadow of the Mahatma
  3. नागोरी, डॉ. एस.एल. “खण्ड 3”, स्वतंत्रता सेनानी कोश (गाँधीयुगीन), 2011 (हिन्दी), भारतडिस्कवरी पुस्तकालय: गीतांजलि प्रकाशन, जयपुर, पृष्ठ सं 139।
  4. जाजू, राम निवास। मरूभूमि का वह मेघ (हिंदी) भारतीय साहित्य संग्रह। अभिगमन तिथि: 9 अप्रॅल, 2013।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=घनश्याम_दास_बिड़ला&oldid=622055" से लिया गया