घण्टाभरणक तीर्थ मथुरा  

  • यहाँ स्नान करने से मनुष्य सब प्रकार के पापों से मुक्त होकर सूर्यलोक में गमन करता है ।

घण्टाभरणकं तीर्थं सर्व्वपापप्रमोचनम्।
यस्मिन स्नातो नरो देवि! सूर्य्यलोके महीयते


संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=घण्टाभरणक_तीर्थ_मथुरा&oldid=171883" से लिया गया