गीता दत्त  

गीता दत्त
गीता दत्त
पूरा नाम गीता घोष राय चौधरी
प्रसिद्ध नाम गीता दत्त
जन्म 23 नवम्बर, 1930
जन्म भूमि फरीदपुर, बांग्लादेश
मृत्यु 20 जुलाई, 1972 (41 वर्ष)
पति/पत्नी गुरु दत्त
संतान तीन (तरुण, अरुण और नीना दत्त)
कर्म भूमि मुम्बई
कर्म-क्षेत्र पार्श्वगायन
मुख्य फ़िल्में 'प्यासा', 'सुजाता', 'साहिब बीबी और ग़ुलाम', 'बाज़ी', 'आर-पार', 'सीआईडी', 'हावड़ा ब्रिज', 'कागज़ के फूल' आदि।
प्रसिद्धि पा‌र्श्वगायिका
नागरिकता भारतीय
बाहरी कड़ियाँ आधिकारिक वेबसाइट

गीता दत्त (अंग्रेज़ी: Geeta Dutt, जन्म: 23 नवम्बर, 1930; मृत्यु: 20 जुलाई, 1972) भारतीय सिनेमा जगत् में प्रसिद्ध पा‌र्श्वगायिका थीं, जिसने अपनी दिलकश आवाज़ से लगभग तीन दशकों तक करोड़ों श्रोताओं को मदहोश किया। कालजयी फ़िल्म ‘प्यासा’ के अंत में इस फ़िल्म के गीतों को स्वर देने वाली पा‌र्श्वगायिका गीता दत्त के पति प्रसिद्ध अभिनेता, निर्माता-निर्देशक गुरु दत्त थे।

जीवन परिचय

फ़िल्म जगत् में गीता दत्त के नाम से मशहूर गीता घोष राय चौधरी का जन्म 23 नवंबर 1930 को फरीदपुर शहर में हुआ। जब वे महज 12 वर्ष की थी तब उनका पूरा परिवार अब बांग्लादेश में फरीदपुर से मुंबई आ गया। उनके पिता ज़मींदार थे। बचपन के दिनों से ही गीता दत्त का रुझान संगीत की ओर था और वह पा‌र्श्वगायिका बनना चाहती थी। गीता दत्त ने अपनी संगीत की प्रारंभिक शिक्षा हनुमान प्रसाद से हासिल की।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 1.2 1.3 1.4 गीता दत्त: तदबीर से बिगड़ी हुई तकदीर बना ले (हिंदी) (एच.टी.एम.एल) जागरण याहू इंडिया। अभिगमन तिथि: 13 दिसम्बर, 2012।
  2. 2.0 2.1 2.2 गीता दत्त : एक सुन्दर सपना बीत गया (हिंदी) (एच.टी.एम.एल) वेबदुनिया हिंदी। अभिगमन तिथि: 13 दिसम्बर, 2012।
और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=गीता_दत्त&oldid=633444" से लिया गया