ग़दर आन्दोलन  

ग़दर आन्दोलन भारत की आज़ादी के लिए ब्रिटिश साम्राज्य के विरुद्ध किये गए आन्दोलनों में से एक था। लाला हरदयाल, बाबा हरनाम सिंह, बाबा सोहन सिंह भकना और गुरदीत्त सिंह आदि इस आन्दोलन से जुड़े हुए थे।

  • वर्ष 1913 में पंजाबी भारतीयों के एक गुट ने भारत को ब्रिटिश राज से मुक्त कराने के लिए एक विद्रोह की योजना बनाई थी। इतिहास में इसे 'ग़दर आन्दोलन' के तौर पर जाना गया।
  • 'ग़दर' शब्द का अर्थ है- 'विद्रोह'। इसका मुख्य उद्देश्य भारत में क्रान्ति लाना था; जिसके लिए अंग्रेज़ी नियंत्रण से भारत को स्वतंत्र करना आवश्यक था।
  • ग़दर पार्टी का मुख्यालय सैन फ्रांसिस्को में स्थापित किया गया था। इसने एक 'युगान्तर आश्रम' नाम से एक संस्था भी स्थापित की थी, जिसका कार्य युवा भारतीयों में देशभक्ति की भावना फैलाना और उन्हें विद्रोह के लिए प्रशिक्षित करना था।
  • अंग्रेज़ ब्रिटिश सरकार ने इस विद्रोह को बलपूर्वक दबा दिया।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=ग़दर_आन्दोलन&oldid=525058" से लिया गया