क्रिकेट  

क्रिकेट विषय सूची
क्रिकेट
क्रिकेट के मैदान में क्रिकेट खेलते खिलाड़ी
विवरण क्रिकेट एक बल्ले व गेंद से दो दलों के खिला‌ड़ियों के बीच एक बड़े मैदान में खेला जाने वाला खेल है। मुख्यतः यह एक बाहरी (आउटडोर) खेल है लेकिन कुछ मुक़ाबले कृत्रिम प्रकाश (फ्लड लाइट्स) में भी खेले जाते हैं।
सर्वोच्च नियंत्रण निकाय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी)
पहली बार खेला गया 1877 ई.
दल के सदस्य 11 (ग्यारह)
उपकरण बल्ला, गेंद, स्टम्प आदि
स्थल बड़ा मैदान
विश्वकप प्रतियोगिता वर्ष 1975 से प्रत्येक चार वर्ष के अंतराल पर आयोजित होती है।
ओलम्पिक एक बार सन् 1900 में ही शामिल किया गया।
संबंधित लेख गेंदबाज़ी, बल्लेबाज़ी
प्रारूप टेस्ट क्रिकेट, वनडे क्रिकेट, टी-20 क्रिकेट
पिच मैदान के बीच में एक 'पिच' बनाई जाती है जो 22 गज़ लम्बी और 10 फुट चौड़ी होती है। इसके दोनों तरफ़ 28 इंच ऊँचे तीन 'स्टम्प' लगे रहते हैं और इन स्टम्पों के बीच में दो 'गिल्लियाँ' लगी रहती हैं।
अन्य जानकारी भारत ने टेस्ट क्रिकेट में पहला क़दम सन् 1932 में रखा था। इस वर्ष इंग्लैंड के विरुद्ध लार्डस में भारत ने पहला टेस्ट खेला था। इस टेस्ट में भारतीय टीम के कप्तान सी. के. नायडू थे। एक टेस्ट की शृंखला में भारत यह टेस्ट 158 रन से हारा।

क्रिकेट एक बल्ले व गेंद से 11-11 खिलाड़ियों के दो दलों के बीच एक बड़े मैदान में खेला जाने वाला खेल है। मुख्यतः यह एक बाहरी (आउटडोर) खेल है और कुछ मुक़ाबले कृत्रिम प्रकाश (फ्लड लाइट्स) में भी खेले जाते हैं। उदाहरण के लिए, गरमी के मौसम में इसे संयुक्त राजशाही, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ़्रीका में खेला जाता है जबकि वेस्ट इंडीज, भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका और बांग्लादेश में ज़्यादातर मानसून के बाद सर्दियों में खेला जाता है। मुख्य रूप से इसका प्रशासन दुबई में स्थित अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के द्वारा किया जाता है, जो इसके सदस्य राष्ट्रों के घरेलू नियंत्रित निकायों के माध्यम से विश्व भर में खेल का आयोजन करती है। आईसीसी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेले जाने वाले पुरुष और महिला क्रिकेट दोनों का नियंत्रण करती है। हालांकि पुरुष, महिला क्रिकेट नहीं खेल सकते हैं पर नियमों के अनुसार महिलाएं पुरुषों की टीम में खेल सकती हैं।

परिचय

क्रिकेट एक बड़े मैदान में खेला जाता है और इस मैदान के बीच में एक 'पिच' बनाई जाती है जो 22 गज़ लम्बी और 10 फुट चौड़ी होती है। इसके दोनों तरफ़ 28 इंच ऊँचे तीन 'स्टम्प' लगे रहते हैं और इन स्टम्पों के बीच में दो 'गिल्लियाँ' लगी रहती हैं। ये तीनों स्टम्प इतने पास–पास गाड़े जाते हैं कि जिसमें से गेंद न गुज़र सके। गेंद की परिधि 9 इंच की होती है। क्रिकेट का गेंद एक ख़ास ढंग का होता है। जिसका भार 5.5 औंस से कम और 5.75 औंस से अधिक नहीं होता। हर टीम का अपना एक कप्तान होता है, जो कि इन ग्यारह खिलाड़ियों में ही शामिल होता है। इसके अलावा दो अम्पायर होते हैं, जिनका फ़ैसला दोनों टीमों को मान्य होता है। दोनों टीमों में से कौन–सी टीम पहले बल्लेबाज़ी करेगी इसका फ़ैसला सिक्के की उछाल से, जिसे 'टॉस' कहा जाता है, किया जाता है। टॉस टीम का कप्तान करता है और टॉस जीतने वाला कप्तान तय करता है कि कौन सी टीम पहले बल्लेबाज़ी करेगी। दसवें खिलाड़ी के आउट होते ही सारी टीम को आउट हुआ मान लिया जाता है और इस बीच उस टीम ने जितने भी रन बनाए होते हैं, वह उसके आगे जोड़ दिए जाते हैं और कहा जाता है कि अमुक–अमुक टीम ने अपनी पहली पारी में इतने रन बनाए हैं। दोनों दल बारी-बारी से बल्लेबाज़ी (एक पारी) और गेंदबाज़ी करते हैं व एक पारी के समाप्त होने पर आपस में जगह बदल लेते हैं।
मुक़ाबले के पूर्व-निर्धारित समय के अनुसार दलों को एक अथवा दो पारियाँ मिलती हैं, जिनमें अधिकाधिक रन बनाने का उद्देश्य होता है। बल्लेबाज़ी कर रहा दल अपने विकेट (तीन-तीन डंडों के दो समूह, जो मैदान में एक-दूसरे से 20.12 मीटर दूर ज़मीन में लगाए जाते है) बचाता है और गेंद पर प्रहार करके दूसरे छोर के विकेट तक दौड़कर अथवा गेंद पर प्रहार कर उसे सीमा रेखा की ओर या उसके पार भेजकर रन बनाने का प्रयास करता है। गेंदबाज़ बांह सीधी रखकर फेंकी गई गेंद से विकेट गिराने का प्रयास करते हैं, जिससे गिल्लियाँ (जो विकेट के ऊपर आड़ी रखी रहती है) गिर जाएँ। यह बल्लेबाज़ को आउट करने के कई तरीक़ों में से एक होता है।

संबंधित लेख

और पढ़ें
"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=क्रिकेट&oldid=619183" से लिया गया