काठियावाड़  

काठियावाड़ दक्षिण-पश्चिमी गुजरात राज्य में प्रायद्वीपीय क्षेत्र, पश्चिम भारत में स्थित है। यह कच्छ के छोटे रण (उत्तर), खंभात की खाड़ी (पूर्व), अरब सागर (दक्षिण-पश्चिम) और कच्छ की खाड़ी (पश्चिमोत्तर) से घिरा हुआ है। पूर्वोत्तर की ओर से एक प्राचीन बलुआ पत्थर की संरचना का विस्तार प्रायद्वीप के भीतर तक है। भावनगर यहाँ का प्रमुख बंदरगाह और शहर है।

इतिहास

काठियावाड़ में मानव बस्ती का इतिहास तीसरी सहस्राब्दी ई.पू. है। लोथल और प्रभाष पाटन (पाटन सोमनाथ) में हड़प्पा सभ्यता के पुरातात्विक अवशेष मिले हैं। तीसरी शताब्दी ई.पू. में यह प्रायद्वीप मौर्य वंश के प्रभाव में आ गया, लेकिन बाद में इस पर शकों का प्रभुत्व रहा। ईसा के बाद की आरंभिक शताब्दियों में इस पर क्षत्रप वंशों का शासन था और गुप्त साम्राज्य के पतन के बाद काठियावाड़ पर पाँचवी शताब्दी में वल्लभी शासकों ने क़ब्ज़ा कर लिया। इसे मुसलमानों का आरंभिक आक्रमण झेलना पड़ा, जिसकी परिणति महमूद गज़नवी के अभियानों और 1024 -25 में सोमनाथ के मंदिर को नेस्तनाबूद किए जाने के रूप में हुई। बाद में यह क्षेत्र मुग़ल शासन के अंतर्गत आ गया। 1820 के बाद कई छोटी रियासतों ने अंग्रेज़ों की प्रभुता स्वीकार कर ली।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=काठियावाड़&oldid=612827" से लिया गया