कलौंजी  

कलौंजी

कलौंजी रनुनकुलेसी कुल का झाड़ीय पौधा है। इसका उपयोग मसाले और औषधि के रूप में होता है। कलौंजी भारत सहित, एशिया, अफ्रीका और भूमध्य सागर के पूर्वी तटीय देशों में उगने वाला वार्षिक पौधा है। यह एक छोटा सा झाडी़दार पौधा होता है जिसकी लम्बाई बीस से चालीस सेंटीमीटर तक होती है। कलौंजी का फूल हल्का नीला और पीला रंग लिए होता है। इसके फल बड़े और गोल आकार के होते हैं जो अंदर से काले और भूरे रंग के बीजों से भरे होते हैं जिन्हें कलौंजी के नाम से जाना जाता है। इन बीजों का स्वाद हल्का कड़वा और तीखा होता है और ये सुगंध से भरे होते हैं।

विभिन्न नाम

कलौंजी को कई नामों से जाना जाता है - अंग्रेज़ी में स्माल फनेल, संस्कृत में कलवंचिका, कालाजाजी, हिन्दी में कलौंजी, मंगरैला, बंगाली में मुगरेला, गुजराती में कलौंजी, लैटिन में नाइगेला नाम है।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. कलौंजी (हिन्दी) jkhealthworld। अभिगमन तिथि: 19 अगस्त, 2011।
  2. कलौंजी (हिन्दी) निशामधुलिका। अभिगमन तिथि: 19 अगस्त, 2011।

बाहरी कड़ियाँ

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=कलौंजी&oldid=312941" से लिया गया