कर्णवास  

कर्णवास एक ऐतिहासिक शहर है, जो उत्तर प्रदेश में बुलंदशहर के निकट स्थित है। यह गंगा नदी के तट पर स्थित एक प्राचीन तीर्थ स्थान है।[1]

  • प्राचीन समय में इस क्षेत्र को 'भृगुक्षेत्र' कहा जाता था।
  • महाभारत के प्रसिद्ध दानवीर तथा योद्धा कर्ण का इस स्थान से संबंध बताया जाता है। इसका नामकरण कर्ण के नाम पर ही किया गया है।
  • कर्णवास के निकट 'बुधोही' नामक स्थान पर बुद्ध ने कुछ दिन तपस्या की थी।
  • एक अन्य किंवदंती के अनुसार कर्णवास को उज्जयिनी के विक्रमादित्य के समकालीन किसी राजा कर्ण ने बसाया था।
  • पर्यटक यहां महाभारत काल के देवी कल्याणी मंदिर भी घूम सकते हैं।
  • कर्णवास बुलंदशहर से ज्यादा दूर नहीं हैं और ऑटो रिक्शा व टैक्सी के जरिए यहां आसानी से पहुंचा जा सकता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. कर्णवास (हिन्दी) नेटिव प्लेनेट। अभिगमन तिथि: 07 जुलाई, 2014।
  • ऐतिहासिक स्थानावली | पृष्ठ संख्या= 144| विजयेन्द्र कुमार माथुर |  वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग | मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=कर्णवास&oldid=636451" से लिया गया