एल ओबेद  

एल ओबेद (अल ओबेद) सूडान के कोर्दोफान प्रांत का मुख्य नगर है। यह खार्तूम से 230 मी. दक्षिण-पश्चिम, 13रू16व् उ. अ. तथा 29रू 48व् पू. दे. पर समुद्र की सतह से 1,865 फु. की ऊँचाई पर तथा प्रांत के मध्य में सूडान रेलवे के अंतिम छोर पर स्थित है। यहाँ की अनुमानित जनसंख्या सन्‌ 1964 ई. में 60,000 थी। यह नगर व्यापारिक केंद्र भी है तथा यहाँ के व्यापार की मुख्य वस्तुएँ गोंद, पशु और भेड़ें हैं। यहाँ का अधिकांश व्यापार दारफुर से होता है।

सन्‌ 1821 ई. में कोर्दोफान की विजय के बाद यह नगर मिस्रवालों का सैनिक केंद्र हो गया था, परंतु सन्‌ 1882 ई. में विद्रोही मोहम्मद अहमद द्वारा अधिकृत कर लिया गया। महदिया के समय में यह नगर नष्ट भ्रष्ट तथा वीरान कर दिया गया था, परंतु सन्‌ 1899 ई. में पुन: नया नगर बसाया गया।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. हिन्दी विश्वकोश, खण्ड 2 |प्रकाशक: नागरी प्रचारिणी सभा, वाराणसी |संकलन: भारत डिस्कवरी पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 249 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=एल_ओबेद&oldid=633128" से लिया गया