आल्प्स  

आल्प्स यूरोप की एक विशाल पर्वतप्रणाली है जो पश्चिम में जेनोआ की खाड़ी से लेकर पूर्व में वियना तक फैली हुई है। यह प्रणाली उत्तर में दक्षिणी जर्मनी के मैदान और दक्षिण में उत्तरी इटली के मैदान से घिरी हुई है। प्रणाली लगातार ऊँचे पहाड़ों से नहीं बनी है, प्रस्तुत बीच बीच में गहरी घाटियाँ हैं। पर्वत उत्तर की ओर उत्तल है। अधिकांश घाटियों की दिशा पूर्व पश्चिम या उत्तर पूर्व से दक्षिण पश्चिम की ओर है। कुछ गहरी घाटियां पर्वतश्रृंखलाओं को काटती हैं, जिससे इस पर्वत के दोनों ओर स्थित मनुष्यों, जंतुओं और वनस्पतियों का आवागमन संभव हो सका है। आल्प्स शब्द की उत्पत्ति अनिश्चित है। इसका उच्चतम शिखर पश्चिमी आल्प्स में स्थित मांट ब्लैंक है (ऊँचाई 15,781 फुट)।

"'आल्प्स की सीमाएँ-"' उत्तर में यह पर्वत बेसिल से कांस्टैंस झील तक राइन नदी द्वारा और सैल्ज़बर्ग से वियना तक बवेरिया के मैदान तथा निचली पहाड़ियों द्वारा घिरा है। दक्षिण में इसकी सीमा टयूरिन से ट्रिएस्ट तक पीडमांट, लोंबार्डी और वेनीशिया के विशाल मैदान द्वारा निर्धारित होती है। इसका पश्चिमी सिरा ट्यूरिन से आरंभ होकर दक्षिण में काल डी टेंडा तक और पूर्व की ओर मुड़कर काल डी आलटेयर तक चला गया है।

प्राकृतिक विभाग - आल्प्स के तीन मुख्य विभाग हैं: पश्चिमी आल्प्स काल डी टेंडा से सिंपलन दर्रे तक; मध्य आल्प्स, सिंपलन दर्रे से रेशने शिडेक दर्रे तक और पूर्वी आल्प्स, रेशने शिडेक दर्रे से राड्स्टाइर टैवर्न मार्ग तक।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. हिन्दी विश्वकोश, खण्ड 1 |प्रकाशक: नागरी प्रचारिणी सभा, वाराणसी |संकलन: भारत डिस्कवरी पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 448-49 |

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=आल्प्स&oldid=631537" से लिया गया