आपेलीज  

आपेलीज़ प्राचीन पश्चिमी जगत्‌ का संभवत: सबसे महान चित्रकार। वह चौथी शताब्दी ई.पू. में हुआ और फिलिप तथा सिकंदर (पिता पुत्र) का समकालीन था, मकदूनिया का दरबारी कलाकार। वज्रधारी सिकंदर का उसका चित्र सिलिपस द्वारा कारी मल्लधारी सिकंदर की मूर्ति से कम महत्व का नहीं था। उसके मकदूनिया में बनाए अनेक चित्रों के नाम और असामान्य प्रशंसा प्राचीन इतिहासों में सुरक्षित है, यद्यपि इनमें किसी एक की भी असल या नकल प्रति आज उपलब्ध नहीं।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. हिन्दी विश्वकोश, खण्ड 1 |प्रकाशक: नागरी प्रचारिणी सभा, वाराणसी |संकलन: भारत डिस्कवरी पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 388 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=आपेलीज&oldid=632040" से लिया गया