आगा ख़ाँ तृतीय  

आगा ख़ाँ तृतीय
आगा ख़ाँ तृतीय
पूरा नाम आगा सुल्तान मुहम्मद शाह
जन्म 2 नवम्बर, 1877
जन्म भूमि कराची
मृत्यु 11 जुलाई, 1957
मृत्यु स्थान स्विट्जरलैंड
कर्म भूमि भारत
प्रसिद्धि आध्यात्मिक नेता (शिया निजारी इस्माईली सम्प्रदाय)
उपाधि आगा ख़ाँ तृतीय
अन्य जानकारी आगा ख़ाँ को घुड़दौड़ का बहुत शौक था। वह गोल्फ, क्रिकेट और हॉकी के खेलों में भी रुचि लेते थे। आप 10 वर्ष तक 'अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी' के वे उपकुलपति रहे।

आगा सुल्तान मुहम्मद शाह (अंग्रेज़ी: Aga Sultan Muhammed Shah, जन्म- 2 नवम्बर, 1877, कराची; मृत्यु- 11 जुलाई, 1957, स्विट्जरलैंड) शियाओं के निजारी इस्माईली मत के आध्यात्मिक नेता थे। ये आगा ख़ाँ द्वितीय के एकलौते बेटे थे। सन 1885 में आगा ख़ाँ तृतीय अपने पिता के उत्तराधिकारी के रूप में निजारी इस्माईली संप्रदाय के इमाम बने थे।

परिचय

आगा ख़ाँ तृतीय का पूरा नाम आगा सुल्तान मुहम्मद शाह था। उनका जन्म 2 नवंबर, 1877 को कराची, पाकिस्तान में हुआ था। उनके दादा मुहम्मद हुसैन फ़ारस के रहने वाले थे और फ़ारस के शाह ने उन्हें आगा ख़ाँ की उपाधि दी थी। तब से उनके वंशज भी जो मुसलमानों के इस्लामिया समुदाय के गुरु थे, आगा ख़ाँ कहलाने लगे। सुल्तान मुहम्मद शाह को 8 वर्ष की उम्र में ही इमाम की गद्दी मिल गई थी। उनके पूर्वज तब तक ईरान से सिंध होते हुए मुंबई में बस चुके थे।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें
"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=आगा_ख़ाँ_तृतीय&oldid=626972" से लिया गया