अभयदेव  

आचार्य अभयदेव

  • अभयदेव ने सिद्धसेन के 'सन्मति सूत्र', 'सन्मतितर्कटीका' लिखी है।
  • इसमें स्याद्वाद और अनेकान्त पर विस्तृत प्रकाश डाला गया है।
  • इनका समय ईसा की 12वीं शती है।
  • अभयदेव प्रभाचन्द्र से ख़ूब प्रभावित हैं और उनकी इस टीका पर प्रभाचन्द्र की उक्त व्याख्याओं का अमिट प्रभाव है।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=अभयदेव&oldid=172146" से लिया गया