अब्दुल्ला ख़ाँ  

अब्दुल्ला ख़ाँ भारतीय इतिहास में प्रसिद्ध सैयद बन्धुओं में से एक था। 'अब्दुल्ला ख़ाँ' और उसका छोटा भाई 'हुसैन अली' भारतीय इतिहास में 'राजा बनाने वाले' के नाम से प्रसिद्ध रहे हैं। 1713 ई. से 1719 ई. तक इन दोनों भाइयों का मुग़ल राजनीति में बहुत गहरा प्रभाव था।

  • अब्दुल्ला ख़ाँ और हुसैन अली का जन्म अवध के एक उच्च परिवार में हुआ था।
  • बादशाह बहादुरशाह प्रथम के राज्यकाल के अन्तिम वर्षों में ये उच्च पदाधिकारी हो गए।
  • सैयद अब्दुला और उसके छोटे भाई हुसैन ने 1713 से 1719 ई. तक मुग़ल सल्तनत का संचालन किया।
  • इन लोगों ने फ़र्रुख़सियर को 1713 ई. में सिंहासन पर बैठाया था।
  • 1719 ई. में उसे गद्दी से हटा दिया गया और उसकी हत्या कर दी गई।
  • उसी एक वर्ष के भीतर उन्होंने चार मुग़ल बादशाहों को गद्दी पर बैठाया और हटाया।
  • जब उन लोगों ने पाँचवें बादशाह मुहम्मदशाह को 1719 ई. में गद्दी पर बैठाया, तो उसने हुसैन का कत्ल करवा दिया।
  • अब्दुला ख़ाँ भी को क़ैद कर लिया गया, जहाँ उसे ज़हर देकर 1722 ई. में मार डाला गया।

इन्हें भी देखें: सैयद बन्धु


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें
"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=अब्दुल्ला_ख़ाँ&oldid=235202" से लिया गया