अन्नपूर्णा पर्वत  

अन्नपूर्णा पर्वत

अन्नपूर्णा पर्वत हिमालय श्रेणी का गिरिखंड उत्तर-मध्य नेपाल, काली गंडक और मरस्यांदी नदी घाटियों के बीच 48 किमी लंबी पर्वतश्रेणी का निर्माण करता है। इसमें चार प्रमुख शिखर (चोटियाँ) हैं।

  1. अन्नपूर्णा I पश्चिमी और उत्तरी छोर पर (8,091 मीटर)
  2. अन्नपूर्णा II (7,937 मीटर)
  3. अन्नपूर्णा III (7,555 मीटर)
  4. अन्नपूर्णा IV (7,525 मीटर)
  • अन्नपूर्णा I विश्व की सबसे ऊंची चोटियों में से एक है। हालांकि पर्वतारोही 1924 में एवरेस्ट पर्वत पर 8,580 मीटर तक पहुँच चुके थे, लेकिन अन्नपूर्णा I को ख्याति 1950 में मिली, जब यह 8,00 मीटर से अधिक ऊँचाई वाली ऐसी पहली चोटी बनी, जिसके शिखर तक पहुँचा गया था।
  • यह गौरव फ़्रासीसी पर्वतारोही दल को मिला, जिसके नेता मॉरिस हरज़ॉग अपने सहयोगी लुई लाचेनल के साथ 3 जून को शिखर पर पहुँचे।
  • अन्नपूर्णा IV पर एच. बिलर, एच. स्टेनमेट्ज़ और जे. वेलेनकैंप ने 30 मई, 1955 में विजय प्राप्त की।
  • अन्नपूर्णा II के शिखर पर जेम्स ओ. एम. रॉबर्ट्स के नेतृत्व में आर. एच. ग्रांट और सी. जे. बॉनिंगटन 17 मई, 1960 को पहुँचे। 1970 में महिला पर्वतारोहियों के जापानी अभियान दल ने अन्नपूर्णा 3 की चोटी पर पहुँचने में सफलता पाई।
पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  • भारत ज्ञानकोश खण्ड-1

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=अन्नपूर्णा_पर्वत&oldid=266891" से लिया गया