अनुगामी अपवाह  

अनुगामी अपवाह ढाल की दिशा में होने वाला प्रवाह है।

  • कोई नदी जब धरातलीय ढाल की दिशा में प्रवाहित होती है, तब इस अपवाह का विकास होता है।
  • इस प्रकार के अपवाह में प्राय:द्वीपीय नदियाँ पुमुख हैं।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=अनुगामी_अपवाह&oldid=263014" से लिया गया