अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह  

(अण्डमान और निकोबार द्वीपसमूह से पुनर्निर्देशित)


India-flag.gif
अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह
Andaman-Nicobar-Map.jpg
राजधानी पोर्ट ब्लेयर
राजभाषा(एँ) हिन्दी भाषा, निकोबारी भाषा, तमिल भाषा, बांग्ला भाषा, मलयालम भाषा, तेलुगु भाषा
जनसंख्या 3,56,152[1]
· घनत्व 43 /वर्ग किमी
क्षेत्रफल 8,073 वर्ग किमी
भौगोलिक निर्देशांक 11.68° उत्तर, 92.77° पूर्व
जलवायु उष्णकटिबंधीय
वर्षा 3180 मिमी
ज़िले 2
मुख्य ऐतिहासिक स्थल सेल्‍यूलर जेल
मुख्य पर्यटन स्थल रॉस द्वीप, हैवलॉक द्वीप, रेड स्किन द्वीप, नील द्वीप
लिंग अनुपात 1000:846 ♂/♀
साक्षरता 65.15%
· स्त्री 76.09%
· पुरुष 71.07%
उपराज्यपाल जगदीश मुखी[2]
राजकीय पशु डुगोंग (Dugong or Sea Cow)
राजकीय पक्षी अंडमानी कबूतर (Andaman Wood Pigeon)
राजकीय वृक्ष अंडमान पदौक (Andaman Padauk)
बाहरी कड़ियाँ अधिकारिक वेबसाइट
अद्यतन‎
Blank-1.gif

अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह भारत का एक केन्द्र शासित प्रदेश है। यह बंगाल की खाड़ी के दक्षिण में हिन्द महासागर में स्थित है। अंडमान एवं निकोबार लगभग 300 छोटे बड़े द्वीपों का समूह है, जिसमें कुछ ही द्वीपों पर आबादी है। यहाँ की राजधानी पोर्ट ब्लेयर है। अंडमान और निकोबार द्वीप समूहों का संघ राज्‍य क्षेत्र 6° और 14° उत्तरी अक्षांश और 92° तथा 94° पूर्वी देशांश के बीच स्थित है। ये द्वीप 10° उत्तरी अक्षांश पर स्थित हैं जिसे अंडमान द्वीप समूह कहते हैं जबकि 10° उत्तरी अक्षांश पर स्थित दक्षिणी द्वीप को निकोबार द्वीप समूह कहते हैं। इन द्वीपसमूहों का मौसम नम, उष्‍ण कटिबंधीय तटीय मौसम है। इन द्वीपों में दक्षिणी पश्चिमी और उत्तरी पूर्वी मानसून से वर्षा होती है। यहाँ मई माह से दिसंबर माह के बीच अधिकतम वर्षा होती है।

अंडमान का एक दृश्य

नामकरण

अंडमान मलयालम भाषा के हांदुमन शब्द से आया है जो हिन्दुओं के भगवान हनुमान शब्द का परिवर्तित रूप है। निकोबार शब्द भी इसी भाषा से लिया गया है जिसका अर्थ होता है- नग्न लोगों की भूमि। बंगाल की खाड़ी में बसा निर्मल और शांत अंडमान पर्यटकों के मन को असीम आनंद की अनुभूति कराता है। यह भारत का एक लोकप्रिय द्वीप समूह है।

अंडमान में मूंगा भित्ति, सुन्दर सागर तट, यादों से जुड़े खंडहर और विभिन्न दुर्लभ वनस्पतियां हैं। एक से एक बढ़कर, यहाँ पर कुल 572 द्वीप हैं। अंडमान द्वीप का 86 प्रतिशत क्षेत्रफल वन संपदा से ढका हुआ है। समुद्री जीव और जैव वनस्पतियों, इतिहास और जल सम्बन्धी खेलों में रुचि रखने वाले पर्यटकों को यह द्वीप बहुत पसंद आता है।

इस द्वीप समूह पर 17 वीं सदी में मराठों द्वारा अधिकार किया गया था। मराठों के बाद इस पर ब्रिटिश शासकों ने राज्य किया। दूसरे विश्वयुद्ध में इस पर जापान ने अधिकार कर लिया। उसके बाद कुछ समय के लिये यह द्वीप नेता जी सुभाषचंद्र बोस की आज़ाद हिन्द फ़ौज की अधीनता में भी रहा। जनरल लोकनाथन यहाँ के गवर्नर थे। 1947 में ब्रिटिश शासन से आज़ादी के बाद यह द्वीप समूह भारत का केन्द्र शासित प्रदेश बना।

ब्रिटिश शासन इस स्थान का प्रयोग स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन में अपनी दमन की नीति के अंतर्गत क्रांतिकारियों को भारत से दूर जेल में रखने के लिये करता था। इसी कारण से यह आंदोलनकारियों के मध्य 'कालापानी' के नाम से जाना जाता था। इसके लिये पोर्ट ब्लेयर में एक अलग जेल सेल्‍यूलर जेल का निर्माण किया गया जो ब्रिटिश काल में भारत के लिये साइबेरिया की तरह माना जाता था।

अंडमान द्वीपसमूह
  • 26 दिसंबर 2004 को सुनामी लहरों से इस द्वीप पर कहर आ गया था जिसमें अनुमानत: 6000 से अधिक लोग मारे गये थे।
  • अंडमान व निकोबार द्वीप के तीन ज़िले हैं:
  1. उत्तर एवं मध्य अंडमान ज़िला
  2. दक्षिण अंडमान ज़िला
  3. निकोबार ज़िला

इन द्वीपों के वनों में रहने वाले मूल आदिवासी जनजातियाँ शिकार और मछली पकड़ने का काम करते हैं। इनकी चार नेग्रीटो जनजातियां हैं:

  1. ग्रेट अंडमानी
  2. ओंज
  3. जरावा
  4. सेंटीनेलेस, जो द्वीप समूहों के अंडमान द्वीपसमूह में पायी जाती है और दो मंगोली जनजातियां-
  5. निकोबारी
  6. शॉम्‍पेन्‍स , जो द्वीप समूह के निकोबार द्वीप समूह में पाई जाती है।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 2001 की जनगणना के अनुसार
  2. लेफ्टीनेंट गवर्नर तथा प्रशासक (हिंदी) भारत की आधिकारिक वेबसाइट। अभिगमन तिथि: 15 मार्च, 2017।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=अंडमान_एवं_निकोबार_द्वीपसमूह&oldid=635297" से लिया गया