अचलेश्वर महादेव मंदिर, धौलपुर  

अचलेश्वर महादेव मंदिर, धौलपुर
अचलेश्वर महादेव, धौलपुर
विवरण 'अचलेश्वर महादेव मंदिर' राजस्थान स्थित प्रसिद्ध हिन्दू धार्मिक स्थल है। इस मंदिर में भगवान शिव के पैर के अंगूठे की पूजा-अर्चना की जाती है।
राज्य राजस्थान
ज़िला धौलपुर
स्थिति माउण्ट आबू से लगभग 11 किलोमीटर दूर उत्तर दिशा में अचलगढ़ की पहाड़ियों पर।
सम्बंधित देवता शिव
विशेष मंदिर में अंगूठे के नीचे बने प्राकृतिक पाताल खड्डे में कितना भी जल डाला जाये, किन्तु खाई नहीं भरती। इसमें चढ़ाया जाने वाला जल कहाँ जाता है, यह आज भी एक रहस्य है।
संबंधित लेख राजस्थान, राजस्थान पर्यटन
अन्य जानकारी मंदिर के अंदर गर्भगृह में शिवलिंग पाताल खंड के रूप में दृष्टिगोचर होता है, जिसके ऊपर एक तरफ़ पैर के अंगूठे का निशान उभरा हुआ है, जिसे स्वयंभू शिवलिंग के रूप में पूजा जाता है। यह देवाधिदेव शिव का दाहिना अंगूठा माना जाता है।

अचलेश्वर महादेव मंदिर धौलपुर, राजस्थान के माउण्ट आबू में स्थित है। यह विश्व का ऐसा एकमात्र मंदिर है, जहाँ भगवान शिव तथा उनके शिवलिंग की नहीं, अपितु उनके पैर के अंगूठे की पूजा की जाती है। यहाँ भगवान शिव अंगूठे के रूप में विराजते हैं और सावन के महीने में इस रूप के दर्शन का विशेष महत्त्व है।

स्थिति

अचलेश्वर महदेव मंदिर माउण्ट आबू से लगभग 11 किलोमीटर दूर उत्तर दिशा में अचलगढ़ की पहाड़ियों पर अचलगढ़ के क़िले के पास स्थित है। अचलेश्वर महादेव के नाम से भारत में कई मंदिर है, जिसमें से एक धौलपुर का 'अचलेश्वर महादेव मंदिर' है। राजस्थान के एक मात्र हिल स्टेशन माउण्ट आबू को "अर्धकाशी" के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि यहाँ पर भगवान शिव के कई प्राचीन मंदिर हैं। 'स्कंद पुराण' के अनुसार "वाराणसी शिव की नगरी है तो माउण्ट आबू भगवान शंकर की उपनगरी।"

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 अचलेश्वर महादेव, अचलगढ़-एक मात्र मंदिर जहां होती है शिव के अंगूठे की पूजा (हिन्दी) अजब-गजब.कॉम। अभिगमन तिथि: 22 अक्टूबर, 2014।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=अचलेश्वर_महादेव_मंदिर,_धौलपुर&oldid=507144" से लिया गया